पी.एच.डी. कार्यक्रम  2016

राजा रामन्ना प्रगत प्रौद्योगिकी केन्द्र, इन्दौर में भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीवन विज्ञान एवं इंजीनियरींग विज्ञान (यांत्रिकी इंजीनियरींग) के विशिष्ट क्षेत्रों में पीएच. डी. कार्यक्रम हेतु आमंत्रण

राजा रामन्ना प्रगत प्रौद्योगिकी केन्द्र (आरआरकेट), इन्दौर की स्थापना परमाणु ऊर्जा विभाग (पऊवि) द्वारा वर्ष 1984 में त्वरक, लेसर तथा इनसे सं‍बंधित प्रौद्योगिकी में अनुसंधान एवं विकास कार्यों को आगे बढ़ाने हेतु की गई थी । तब से केन्द्र ने दो सिंक्रोट्रोन विकिरण स्रोत इण्डस-1 तथा इण्डस-2 स्थापित किए हैं, जो राष्ट्रीय अनुसंधान सुविधाएँ हैं । इनके अतिरिक्त विकिरण संसाधन अनुप्रयोगों हेतु कई छोटे त्वरक स्थापित किए गए हैं । केन्द्र में निम्न ताप भौतिकी के प्रयोगों के लिए अत्याधुनिक उपस्कर तथा उत्कृष्ट क्रायोजेनिक सुविधाएँ उपलब्ध हैं। विभिन्न लेसर प्रणालियों, विशेषकर उच्च शक्ति लेसरों को बनाया गया है तथा इनका उपयोग व्यापक अनुप्रयोगों हेतु किया जा रहा हैं । इनमें गैस लेसर (जैसे ताम्र वाष्प लेसर, कार्बन-डाई-ऑक्साइड लेसर), ठोस अवस्था लेसर (जैसे डायोड पंपित ठोस अवस्था लेसर तथा अर्धचालक लेसर, उच्च ऊर्जा लेसर) शामिल हैं । इनका उपयोग लेसर-प्लाज्मा अनुक्रिया तथा लेसर जैवचिकित्सा अनुप्रयोगों जैसे क्षेत्रों में अध्ययन करने के लिए किया जाता है । केन्द्र में रेडियो आवृत्ति अतिचालकता, निम्न-ताप भौतिकी, पदार्थ विज्ञान, शीत परमाणु भौतिकी, अरैखिक प्रकाशिकी, ऑप्टो-इलेक्ट्रॉनिकी, नेनो-विज्ञान, माइक्रो-इलेक्‍ट्रो-यांत्रिकी प्रणाली, योज्‍य निर्माण इत्‍यादि कई दीर्घकालीन कार्यक्रम भी हैं।

आरआरकेट, जो एनएसीसी ‘’ए’’ ग्रेड के साथ मानित विश्‍वविद्यालय होमी भाभा राष्ट्रीय संस्थान (एचबीएनआई) की एक संघटक संस्था है, में भौतिकी, रसायन विज्ञान, इंजीनियरींग तथा जीवन विज्ञान के उपर्युक्त विशिष्ट क्षेत्रों में पीएच.डी. कार्यक्रम हेतु उचित शैक्षणिक योग्यता वाले विद्यार्थियों से आवेदन आमंत्रित हैं । एचबीएनआई के नियमों के अनुसार, पीएच.डी. कार्यक्रम में एक वर्ष की अवधि के पाठ्‌यक्रम के बाद अधिकतम चार वर्ष की अवधि का अनुसंधान कार्य शामिल है । पीएच.डी. 2016 कार्यक्रम 01 अगस्त 2016 को आरम्भ होगा । पीएच.डी. कार्यक्रम के लिए चयनित उम्मीदवारों को परमाणु ऊर्जा विभाग की अनुसंधान फेलोशिप प्रदान की जाएगी । प्रथम दो वर्षों तक (कनिष्ठ अनुसंधान अध्‍येता) राशि Rs. 25,000/- प्रति माह है तथा कार्य की संतोषजनक वार्षिक प्रगति की स्थिति में अगले तीन वर्षों तक (वरिष्‍ठ अनुसंधान अध्‍येता) यह राशि Rs. 28,000/- प्रति माह है ।

पात्रताः

1) शैक्षणिक योग्यता :

(क) भौतिकी के उम्मीदवारों के लिए : भौतिकी में कुल मिलाकर कम से कम 60% अंकों के साथ एम.एस.सी. डिग्री तथा संयुक्त प्रवेश स्क्रीनिंग परीक्षा (जे.ई.एस.टी.-2016) और/अथवा सी.एस.आई.आर.-यू.जी.सी. नेट जून/ दिसम्बर-2015 में उत्तीर्ण होना आवश्‍यक है (इसमें जे.आर.एफ. की योग्यता मान्य है, लेक्चररशिप की योग्यता मान्य नहीं है) ।

(ख) रसायन विज्ञान के उम्मीदवारों के लिए : रसायन विज्ञान में कुल मिलाकर कम से कम 60% अंकों के साथ एम.एस.सी. डिग्री तथा सी.एस.आई.आर.-यू.जी.सी. नेट (जे.आर.एफ./लेक्चररशिप) जून/ दिसम्बर-2015 परीक्षा उत्तीर्ण होना आवश्‍यक है अथवा जो गेट 2016 परीक्षा उत्तीर्ण करेंगे, वे आवेदन के पात्र हैं ।

(ग) जीवन विज्ञान के उम्‍मीदवारों के लिए : जीवन विज्ञान/जैव प्रौद्योगिकी में कुल मिलाकर कम से कम 60% अंकों के साथ एम.एस.सी. डिग्री तथा सी.एस.आई.आर.-यू.जी.सी. नेट (जे.आर.एफ./ लेक्चररशिप) जून/दिसम्बर-2015 परीक्षा अथवा बीईटी-2015 (BET-2015) उत्तीर्ण होना आवश्‍यक है अथवा जो गेट 2016 परीक्षा उत्तीर्ण करेंगे, वे आवेदन के पात्र हैं । वनस्पति विज्ञान / कृषि विज्ञान पृष्ठभूमि के उम्‍मीदवार आवेदन नहीं करें ।

(घ) इंजीनियरींग विज्ञान (यांत्रिकी इंजीनियरींग) के अभ्‍यर्थियों के लिए : इंजीनियरींग/प्रौद्योगिकी में स्‍नात्तकोत्तर डिग्री अथवा यांत्रिकी/उत्‍पादन इंजीनियरींग/पदार्थ विज्ञान में प्रथम श्रेणी या इस से कम 60% अंको अथवा कम से कम 10 पाइंट स्‍केल पर 6.5 सीजीपीए के साथ समकक्ष डिग्री व वैध गेट स्‍कोर (जैसे गेट-2014, गेट-2015 व गेट-2016)। अभ्‍यर्थियों के पास यांत्रिकी/उत्‍पादन/पदार्थ इंजीनियरींग में स्‍नातक डिग्री होना आवश्‍यक है ।

वे आवेदक जो सन्‌ 2016 के ग्रीष्मकाल में एम.एस.सी. की पढ़ाई पूरी कर रहे हैं, वे भी आवेदन कर सकते हैं बशर्ते पूर्ण हो चुके सेमेस्टरों में उनके कुल मिलाकर कम से कम 60% अंक हो । चयनित होने की अवस्था में, एम.एस.सी. की पूर्ण अंक-सूची 01 नवंबर 2016 तक प्रस्तुत करनी होगी । आवेदक का पी.एच.डी. कार्यक्रम में बने रहना इस बात पर निर्भर करेगा कि उम्मीदवार कुल मिलाकर न्यूनतम 60% अंक प्राप्त करें (अंकों का प्रतिशत संबद्ध विश्ववि‍द्यालय के नियमों के अनुसार निकालें) । 5-वर्षीय इंटीग्रेटेड एम.एस. (आई.आई.एस.ई.आर. संस्थानों के लिए) पाठ्यक्रम को भी 5-वर्षीय इंटीग्रेटेड एम.एस.सी. के समान ही माना जाएगा ।

आयु सीमा : आवेदक का जन्म 01 अगस्त 1990 को अथवा उसके बाद का होना चाहिए । (आयु सीमा में छूट अजा/अजजा आवेदक के लिये 5 वर्ष,अपिव आवेदक के लिये 3 वर्ष एवं शारीरिक रूप से अक्षम आवेदक के लिये 10 वर्ष की है|)

राष्ट्रीयता : आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए ।

चयन प्रक्रियाः

पीएच.डी. कार्यक्रम के लिए विद्यार्थिंयों का चयन दो चरणों में होगाः-
(1)आवेदनों की स्क्रीनिंग की जाएगी, तत्पश्चात
(2)चयन समिति द्वारा सूची में रखे गए उम्मीदवारों का साक्षात्कार आरआरकेट में लिया जाएगा ।

भौतिकी के उम्मीदवारों की प्रारंभिक सूची संयुक्त प्रवेश स्क्रीनिंग परीक्षा जे.ई.एस.टी. 2016 तथा/अथवा सी.एस.आई.आर.-यू.जी.सी. नेट-2015 में आवेदक के अंकों / रैंक के आधार पर तैयार की जाएगी ।

रसायन विज्ञान के उम्मीदवारों की प्रारंभिक सूची सी.एस.आई.आर.-यू.जी.सी. नेट-2015 तथा/अथवा गेट-2016 में आवेदक के अंकों / रैंक के आधार पर तैयार की जाएगी ।

जीवन विज्ञान के उम्मीदवारों की प्रारंभिक सूची सी.एस.आई.आर.-यू.जी.सी. नेट-2015/बीईटी-2015/गेट-2016 में आवेदक के अंकों / रैंक के आधार पर तैयार की जाएगी ।

इंजीनियरींग विज्ञान (यांत्रिकी इंजीनियरींग) अभ्‍यर्थियों की चयनित सूची आवेदकों के रेंक/गेट-2014/गेट-2015/गेट-2016 में प्राप्‍त अंकों के आधार पर तैयार की जाएगी ।

भौतिकी की प्रारंभिक सूची के उम्मीदवारों को आरआरकेट, इंदौर में मई 09, 10, 11,12 तथा जून 13, 14, 15,16 2016 में आयोजित किए जाने वाले साक्षात्कार के लिए बुलाये जाने की संभावना है । उम्मीदवार को अपने आवेदन पत्र में अपनी पसंद की साक्षात्कार तिथि का उल्लेख अवश्य करना चाहिए अन्यथा उन्हें आरआरकेट द्वारा उपरोक्त तिथियों में से निर्धारित किसी एक तिथि पर साक्षात्कार हेतु उपस्थित होना होगा ।

रसायन विज्ञान तथा जीवन विज्ञान की प्रारंभिक सूची के उम्मीदवारों को अनुमानत: 09, 10 जून 2016 में आयोजित किए जाने वाले साक्षात्कार के लिए बुलाये जाने की संभावना है ।

चयनित किए गए इंजीनियरींग विज्ञान के अभ्‍यर्थियों को साक्षात्‍कार के लिए बुलाया जाएगा, जो अनुमानत: 02, 03 जून 2016 में आयोजित किए जाने वाले साक्षात्कार के लिए बुलाये जाने की संभावना है ।

साक्षात्कार हेतु बाहर से आने वाले आवेदकों को लघुत्तम मार्ग के स्लीपर श्रेणी ट्रेन से आने-जाने के किराये अथवा वास्तविक किराये, इनमें जो भी कम हो, का भुगतान किया जाएगा । इसके लिए साक्षात्कार से पहले मूल दस्तावेजों से उनकी पात्रता का सत्यापन किया जाएगा । कृपया ध्यान दें कि साक्षात्कार में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को सभी पूर्ण सेमेस्टरों में कुल मिलाकर कम से कम 60% अंकों का प्रमाण देना होगा । इस प्रमाण के प्रस्तुत न करने की स्थिति में उम्मीदवार का न तो साक्षात्कार लिया जाएगा और न ही यात्रा व्यय का भुगतान किया जायेगा ।

साक्षात्कार में चयनित उम्मीदवारों को आरआरकेट के अतिथिगृह व छात्रावास परिसर में 11 जुलाई 2016 को उपस्थित होने के लिए कहा जाएगा । 12 जुलाई को उन्हें चिकित्सा जाँच हेतु भेजा जाएगा । भौतिकी के उम्मीदवार प्रस्तावित पीएच.डी. विषयों के बारे में जानकारी लेने के लिये संबंधित पीएच.डी. गाईडों से मिलेंगे । यह प्रक्रिया एवं प्रत्येक उम्मीदवार के पीएच.डी. विषय का निर्धारण 28 जुलाई 2016 तक पूरा कर लिया जायेगा । रसायन विज्ञान, जीवन विज्ञान एवं इंजीनियरींग विज्ञान के उम्मीदवारों को उनके एक वर्षीय पाठ्यक्रम हेतु भा.प.अ.के. प्रशिक्षण विद्यालय, मुम्बई में प्रतिनियुक्ति पर भेजा जाएगा एवं भौतिकी के उम्मीदवार अपना एक वर्षीय पाठ्यक्रम भा.प.अ.के. प्रशिक्षण विद्यालय, इन्दौर में पूरा करेंगे जो अगस्त 2016 के प्रथम सप्ताह से शुरू होगा ।

आवेदन कैसे करें:

वेब साईट की ऑन-लाईन आवेदन प्रक्रिया दिनांक 14 मार्च 2016 से प्रारंभ होगी ।

आवेदन दिनांक 14 अप्रैल 2016 तक मिल जाने चाहिए ।

 
Best viewed in 1024x768 resolution